Shani Dev Aarti Pdf – श्री शनिदेव जी की आरती

श्री शनिदेव जी की आरती ( Shani Dev Aarti Pdf In Hindi ) We have given the PDF file of Shani Dev Aarti below. If you want, you can download it. Along with this, we have also given the lyrics of Shani Dev Aarti below. You can read them easily.

श्री शनिदेव जी की आरती Pdf ( Shani Dev Aarti Pdf In Hindi )

शनि देव हिंदू धर्म के एक प्रमुख देवता हैं। शनि देव धर्म-कर्म और उदारता के प्रतीक है। शनि देव के बारे में एक मुख्य बात यह है की अगर शनि ग्रह हमारे कुंडली में है तो वह हमारे जीवन पर अपना प्रभाव अवश्य डालता है। शनि ग्रह के प्रभाव से व्यक्ति के जीवन में अनेक प्रकार की कठिनाई आती है लेकिन सही उपाय और शनिदेव की आराधना से इन्हें कम किया जा सकता है।

शनि देव की आराधना करने का एक मुख्य स्रोत है शनि देव जी की आरती। शनि देव जी की आरती के माध्यम से आप शनिदेव को प्रसन्न करके उनकी कृपा प्राप्त कर सकते हैं। शनि देव जी की आरती का पाठ करने से भक्तों को शनिदेव का आशीर्वाद प्राप्त होता है। 

शनिदेव जी की आरती मानव जीवन के विभिन्न  पहलुओं पर भी प्रभाव डालती है। यह भक्तों को बताती है कि सभी मनुष्य समान होते हैं।

भारत में विभिन्न स्थानों पर शनि मंदिर हैं जहां भक्त शनिदेव की पूजा करते हैं। यहां मनुष्य अपनी चिंताओं और समस्याओं को शनिदेव के समक्ष रखकर उनके समाधान के लिए प्रार्थना करते हैं। 

शनिदेव जी की आरती को नियमित रूप से पाठ करना अत्यंत महत्वपूर्ण है। यह भक्तों को आत्मिक विकास में सहायक होती है और उन्हें जीवन की सभी चुनौतियों का सामना करने की शक्ति प्रदान करती है।

Shani Dev Aarti Pdf
PDF NameShani Dev Aarti Pdf
No. of Pages1
PDF Size187 KB
LanguageHindi
Provideraartichalisapdf.com
CategoryReligion & Spirituality

श्री शनिदेव जी की आरती – Shani Dev Aarti Pdf Download

जय जय श्री शनिदेव भक्तन हितकारी ।
सूरज के पुत्र प्रभु छाया महतारी ॥
॥ जय जय श्री शनिदेव..॥

श्याम अंक वक्र दृष्ट चतुर्भुजा धारी ।
नीलाम्बर धार नाथ गज की असवारी ॥
॥ जय जय श्री शनिदेव..॥

क्रीट मुकुट शीश रजित दिपत है लिलारी ।
मुक्तन की माला गले शोभित बलिहारी ॥
॥ जय जय श्री शनिदेव..॥

मोदक मिष्ठान पान चढ़त हैं सुपारी ।
लोहा तिल तेल उड़द महिषी अति प्यारी ॥
॥ जय जय श्री शनिदेव..॥

देव दनुज ऋषि मुनि सुमरिन नर नारी ।
विश्वनाथ धरत ध्यान शरण हैं तुम्हारी ॥
॥ जय जय श्री शनिदेव..॥


नीचे दिए गए बटन पर क्लिक करके आप Shani Dev Aarti Pdf File को डाउनलोड कर सकते हैं


शनिदेव जी की आरती के फायदे

शनिदेव जी की आरती का पाठ करने से हमारे जीवन में सकारात्मक परिवर्तन आता हैं। इस आरती का प्रतिदिन अभ्यास करने से हम अपने मानसिक स्थिति में सुधार ला सकते हैं और शनि ग्रह के कठिन प्रभावों से मुक्ति प्राप्त कर सकते हैं।

1. धन की प्राप्ति शनिदेव जी की आरती का नियमित पाठ करने से मनुष्य को धन की प्राप्ति होती है। शनि ग्रह के प्रभाव से मुक्ति प्राप्त करने के लिए यह आरती अत्यंत प्रभावी है और वित्तीय स्थिति में भी सुधार करती है।

2. शांति और सुरक्षा शनिदेव जी की आरती का पाठ करने से घर में शांति और सुरक्षा का आभास होता है। शनि ग्रह की कठिनाईयों को शांति और सुरक्षा के साथ नियंत्रित किया जा सकता है, जिससे घर के सभी सदस्यों को सुरक्षित महसूस होता है।

3. रोग निवारण शनिदेव जी की आरती का पाठ करने से शारीरिक स्वास्थ्य में भी सुधार होता है। यह आरती रोग निवारण में सहायक होती है और व्यक्ति को दीर्घकालिक रोगों से मुक्ति प्रदान करती है।

4. परिवार में सुख-शांति शनिदेव जी की आरती का नियमित पाठ करने से परिवार में सुख-शांति बनी रहती है। इससे परिवार के सभी सदस्यों के बीच संबंध मजबूत होते हैं और परिवार समृद्धि की ओर बढ़ता है।

शनिदेव जी की आरती का नियमित पाठ करने से हमें भगवान शनि का आशीर्वाद प्राप्त होता है और हमें उनके कठिन प्रभावों से मुक्ति मिलती है। इस आरती का नियमित पाठ करके हम अपने जीवन को सकारात्मक रूप में परिवर्तित कर सकते हैं और शनि ग्रह के प्रभावों से बच सकते हैं।

Also Read

Leave a Comment