Swami Samarth Aarti Pdf – स्वामी समर्थ जी की आरती

Swami Samarth Aarti Pdf । स्वामी समर्थ जी की आरती । श्री स्वामी समर्थ नित्य सेवा । अक्कलकोट स्वामी समर्थांची आरती । Swami Samarth Aarti जयदेव जयदेव

स्वामी समर्थ भारतीय संत थे। उनका जन्म महाराष्ट्र में हुआ था। वे अद्भुत गुणों और आध्यात्मिक ज्ञान के लिए प्रसिद्ध थे। स्वामी समर्थ ने ध्यान और सेवा में अपना समय बिताया।

उन्होंने बहुत सारे लोगों की मदद की और उन्हें सही राह दिखाई। उनकी विचारधारा और उपदेश लोगों को सही और अच्छे जीवन के लिए प्रेरित करते थे। उनका संदेश था कि हमें सभी को न्याय, सत्य और प्यार से बराबरी करनी चाहिए।

स्वामी समर्थ एक प्रेरणास्त्रोत थे। उन्होंने जीवन में सबको सहायता दी और सबका सम्मान किया। उनका मार्गदर्शन सरल और समझने में आसान था। उन्होंने सत्य और न्याय की महत्ता को सिखाया। उनकी बातों में समझ, प्रेम और समर्पण की भावना थी। वे बहुत से लोगों को आत्मिक शक्ति और मानवता के महत्त्व को समझाते थे।

उनका संदेश था कि हमें एक-दूसरे की मदद करना चाहिए और सभी को समान दृष्टि से देखना चाहिए। उनकी शिक्षाएं और उपदेश हमें जीवन में सकारात्मक बदलाव लाने के लिए प्रेरित करते हैं।

Swami Samarth Aarti Pdf
PDF NameSwami Samarth Aarti Pdf
No. of Pages1
PDF Size121 KB
LanguageHindi
Provideraartichalisapdf.com
CategoryReligion & Spirituality

स्वामी समर्थ जी की आरती – Swami Samarth Aarti Lyrics

जयदेव जयदेव श्री स्वामी समर्था

आरती ओवाळू चरणी ठेवूनिया माथा !! जयदेव जयदेव..!!

छेली खेडेग्रामी तू अवतरलासी, जगदुध्दारासाठी राया तू फिरसी

भक्त वत्सल खरा तू एक होसी, म्हणूनी शरण आलो तुझिया चरणांसी !! जयदेव जयदेव..!!

त्रैगुण परब्रम्ह तुझा अवतार, याची काय वर्णू लीला पामर

शेषादीक शिणले नलगे त्या पार,तेथे जडमूढ कैसा करु विस्तार !! जयदेव जयदेव..!!

देवाधिदेव तू स्वामीराया, निर्जर मूनिजन ध्याती भावे तव पाया

तुजसी अर्पण केली आपली ही काया,शरणागता तारी तू स्वामीराया !! जयदेव जयदेव..!!

!!..अघटित लीला करुनी जडमूढ उध्दरीले,किर्ती ऐकुनी कानी चरणी मी लोळे.

चरण प्रसाद मोठा मज हे अनुभवले, तुझ्या सूता नलगे चरणावेगळे !! जयदेव जयदेव..!!


नीचे दिए गए बटन पर क्लिक करके आप Swami Samarth Aarti Pdf File को डाउनलोड कर सकते हैं।


Leave a Comment